Contact
Fitness: 06:30am-8:00pm | Unisex Salon: 08:00am-8:00pm

क्या बच्चों के लिए फायदेमंद होता है बकरी का दूध?

बकरी का दूध पीने, चाय बनाने या दैनिक इस्तेमाल के लिए उतना पॉपुलर नहीं है, जितना गाय या भैंस का दूध है। इसका एक कारण इस दूध से आने वाली अजीब सी गंध हो सकती है। लेकिन बकरी का दूध काफी पौष्टिक होता है। इसमें प्रोटीन की मात्रा तो इंसानी दूध से ज्यादा होती ही है, साथ ही इसमें कैल्शियम, पोटैशियम, सोडिटयम, फॉस्फोरस जैसे मिनरल्स भी अच्छी मात्रा में होते हैं। अब सवाल उठता है कि बकरी का दूध अगर बहुत पौष्टिक है, तो क्या इसे शिशुओं और छोटे बच्चों को पिला सकते हैं? अगर हां, तो किस उम्र से बकरी का दूध पिलाना सुरक्षित होगा।

क्या बच्चों को बकरी का दूध पिलाना सुरक्षित है? (Is Goat Milk Safe For Babies?)

बहुत छोटे बच्चों खासकर शिशुओं को बकरी का दूध नहीं पिलाना चाहिए क्योंकि इसमें प्रोटीन की मात्रा ज्यादा होती है, जिसे शिशु आसानी से पचा नहीं पाते हैं। इसके अलावा इसमें फॉलेट की मात्रा कम होती है, जो कि बच्चों के विकास के लिए एक जरूरी तत्व है। इसलिए अगर बच्चे को सिर्फ बकरी का दूध पिलाया जाए, तो उसे एनीमिया होने की आशंका बढ़ सकती है। इसलिए ऐसे बच्चों को मां का दूध, फॉर्मूला मिल्क या गाय का दूध पिलाने की ही सलाह दी जाती है। ये तीनों ही दूध बहुत हल्के होते हैं और पचाने में आसान होते हैं।

बकरी का दूध कितना पौष्टिक होता है? (Nutrition in Goat Milk)

बकरी के दूध में कई जरूरी पोषक तत्व होते हैं इसलिए इसे पौष्टिक माना जाता है। इसमें विटामिन ए, कैल्शियम, विटामिन डी, विटामिन सी, मैग्नीशियन, पौटेशियम, जिंक, कार्बोहाइड्रेट आदि अच्छी मात्रा में होते हैं। इसके अलावा इसमें लैक्टोज की मात्रा कम होती है, इसलिए जिन बच्चों को लैक्टोज इंटॉलरेंस की समस्या है, उन्हें ये दूध दिया जा सकता है। गाय के दूध और बकरी के दूध में दोनों ही फायदेमंद होते हैं इसलिए डॉक्टर की सलाह लेकर इसे पिलाएं।

बच्चों को बकरी का दूध पिलाने के फायदे (Benefits of Goat Milk for Kids)

एक साल से बड़े बच्चों को सॉलिड फूड्स के साथ-साथ अगर बकरी का दूध पिलाते हैं, तो इससे उन्हें कई फायदे मिल सकते हैं।

हार्ट रहता है सेहतमंद

बकरी का दूध दिल के लिए बहुत सेहतमंद माना जाता है। बकरी के दूध में गाय के दूध के मुकाबले लगभग 50% कम कोलेस्ट्रॉल होता है, इसलिए इस दूध को पिलाने से बच्चों को हार्ट संबंधी समस्याएं होने का खतरा कम हो जाता है। वहीं जिन बच्चों को बचपन से हार्ट से जुड़ी समस्याएं हैं, उन्हें यह दूध पिलाना फायदेमंद हो सकता है।

कब्ज की समस्या में आराम

बकरी का दूध पिलाने से बच्चे के कब्ज की समस्या दूर हो सकती है। दरअसल इस दूध में प्रोटीन और दूसरे मिनरल्स तो होते ही हैं, साथ ही इसमें प्री-बायोटिक और प्रो-बायोटिक गुण भी होते हैं, जो पेट में डाइजेस्टिव वैक्टीरिया को बढ़ाते हैं। इससे कब्ज की समस्या दूर कर सकती है।

बच्चों को बकरी का दूध पिलाने के नुकसान (Side Effects of Goat Milk for Kids)

अगर आप 12 महीने से छोटे बच्चे को बकरी का दूध पिलाते हैं तो उसे दस्त, उल्टी और पेट दर्द जैसी समस्याएं हो सकती हैं। इसके अलावा इसमें आयरन और फॉलेट की मात्रा कम होने के कारण अगर बच्चे को सिर्फ बकरी का दूध पिलाते हैं तो उसे एनीमिया की समस्या हो सकती है। कुल मिलाकर आप 1 साल से बड़े बच्चों को डॉक्टर की सलाह के बाद बकरी का दूध पिला सकते हैं। बस ध्यान रखें कि ये दूध उबला हुआ होना चाहिए ताकि इसमें से हानिकारक बैक्टीरिया और कीटाणु आदि खत्म हो जाएं।

 

WhatsApp
NutriPulse